Acharya Balkrishna

(26-Nov-2016) जनकपुर की श्रद्धालु जनता,जनकपुर की श्रद्धालु जनता

जनकपुर,  26 नवम्बर 2016 | जनकपुर की श्रद्धालु जनता दोपहर के 12 बजे से प्रतिक्षारत थी ,अन्य कार्यक्रमों की व्यस्तता के कारण यहाँ समय पर पहुँचना संभव नहीं हो पाया। सभी ने बड़े धैर्य से प्रतीक्षा की,इस प्रकार के समर्पित कार्यकर्ताओं व योगशिक्षकों का हम वंदन करते हैं, पतंजलि योगपीठ ऐसे ही समर्पित कार्यकर्ताओं की ऊर्जा से आगे बढ़ रहा है।”जिस संगठन के ऐसे कार्यकर्ता हों वो संगठन अपने लक्ष्य को न प्राप्त करे ऐसा कैसे हो सकता है”। (26-Nov-2016) जनकपुर की श्रद्धालु जनता दोपहर के 12 बजे से प्रतिक्षारत थी ,अन्य कार्यक्रमों की व्यस्तता के कारण यहाँ समय पर पहुँचना संभव नहीं हो पाया। सभी ने बड़े धैर्य से प्रतीक्षा की,इस प्रकार के समर्पित कार्यकर्ताओं व योगशिक्षकों का हम वंदन करते हैं, पतंजलि योगपीठ ऐसे ही समर्पित कार्यकर्ताओं की ऊर्जा से आगे बढ़ रहा है।”जिस संगठन के ऐसे कार्यकर्ता हों वो संगठन अपने लक्ष्य को न प्राप्त करे ऐसा कैसे हो सकता है”। (26-Nov-2016)

Leave a Reply

Your email address will not be published.